कोरोनावायरस लॉकडाउन में ई-कॉमर्स रिटेलर एवं ऑपरेटर्स को ऑनलाइन डिलीवरी की छूट का ऐलान

Faridabad : कोरोनावायरस के कारण शहर में लॉकडाउन है। लॉकडाउन के दौरान आम जनता की आवश्यकता को देखते हुए ऑनलाइन डिलीवरी सर्विस करने वाली कंपनियों को दी छूट गई ।
इन कंपनियों में  जोमैटो, फ्लिपकार्ट, ऐमेज़ॉन, 24seven, ब्लू डॉट, DTDC, वाउ एक्सप्रेस, स्विग्गी, ग्रोफर्स, बिग बास्केट, मिल्क बॉस्केट, Dunzo, बिग बाजार, स्नैपडील, लीशियस, मेडलाइफ, Pharmeasy, अर्बन क्लैप, निंजाकार्ट, इजी डे, जबांग, मंत्रा, स्पेंसर, रिलायंस फ्रेश, फूडपांडा, Honsa consumer pvt. Ltd., Healthians Diagnostics, Delhivery Pvt. Ltd, Nutrimoo Milk Dairy, More Retail, Jubilant food works, Faaso’s Piza hut, Ubereats, Needs Supermart Pvt. Ltd. 1mg. Dr. Lal pathlabs, Maxpath, Satvacart और अन्य ई-कॉमर्स रिटेलर एवं ऑपरेटर्स शामिल हैं।
पुलिस आयुक्त केके राव ने बताया कि घरों एवं बिल्डिंग में लगे इलेक्ट्रॉनिक इक्विपमेंट्स को रिपेयर करने वाले टेक्नीशियन के लिए भी रहेगी छूट।पुलिस जरूरी सेवाओं में लगे हुए लोगों को नहीं रोकेगी।जिले की सीमा पर खाद्य पदार्थ से संबंधित किसी भी ट्रक को नहीं रोकने के आदेश दिए गए हैं।

खाद्य पदार्थों के उत्पादन एवं आपूर्ति में लगे हुए व्यक्ति एवं व्हीकल को नहीं रोका जाएगा।

स्वास्थ्य से संबंधित दवाइयां एवं उपकरणों के उत्पादन या वितरण कार्य में लगे व्यक्ति एवं परिवहन के लिए भी छूट रहेगी।
पुलिस आयुक्त ने कहा कि पूरे हरियाणा राज्य में लॉक डाउन किया जा चुका है, जिसके मद्देनजर सभी आम जनता को घरों में रहने के आदेश दिए गए हैं।घरों में लगे इलेक्ट्रॉनिक इक्विपमेंट्स एवं बिल्डिंगों में लगी हुई लिफ्ट, पानी से संबंधित समस्या, और अन्य समस्याओं के लिए टेक्निशियंस को भी छूट की गई है।इन सेवाओं में इलेक्ट्रीशियन, प्लंबर, लिफ्ट टेक्नीशियन, एयर कंडीशनर मैकेनिक, व्हीकल मकैनिक, जनरेटर मकैनिक, टेलीविजन मकैनिक, डिश टीवी/केबल/सीसीटीवी कैमरा मकैनिक, इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर, प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड्स, सुपरवाइजर, गैस सर्विस, सीएनजी पाइपलाइन टेक्नीशियन, सैनिटाइजेशन वर्कर, डोमेस्टिक हेल्पर के लिए भी छूट रहेगी।

पुलिस आयुक्त ने कहा कि लोगों की मूलभूत जरूरतों को देखते हुए यह फैसला लिया गया है।

केके राव ने कहा कि खाद पदार्थ उत्पादन एवं आपूर्ति से संबंधित सेवा में लगे लोगों एवं व्हीकल को नहीं रोका जाएगा।

एलपीजी सिलेंडर एवं खाद्य पदार्थ और अखबार सप्लाई करने वाले व्हीकल को भी नहीं रोका जाएगा।

उन्होंने कहा कि जिले में सैनिटाइजर बनाने वाली कंपनियां एवं मास्क तैयार करने वाली कंपनियों में कार्य करने वाले कर्मचारियों के लिए भी छूट रहेगी।

पुलिस आयुक्त ने बताया कि खाद्य पदार्थ जमाखोरी से संबंधित शिकायत आप जिला उपायुक्त द्वारा जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर पर 0129 – 2221000 पर कर सकते हैं।

पुलिस आयुक्त ने लोगों से अपील की है कि वह बेवजह घरों से ना निकले।

उन्होंने कहा कि आदेशों का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ कार्यवाही की जा रही है।

पुलिस ऐसे लोगों के खिलाफ कई मुकदमे दर्ज कर चुकी है, जो आदेशों का पालन नहीं कर रहे हैं।

हाई लेवल मीटिंग आयोजित

फरीदाबाद जिले में लॉक डाउन के दौरान हाई लेवल मीटिंग आयोजित की गई, जिसमें केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर, जिले के एमएलए, पुलिस आयुक्त, जिला उपायुक्त, DFSC, SDM मौजूद रहे।
मीटिंग में कई बड़े फैसले लिए गए।
जमाखोरी करने वालों के खिलाफ की जाएगी सख्त कार्रवाई।
जायज रेट से ऊपर सामान बेचने वाले दुकानदारों की भी खैर नहीं।

मीटिंग मैं फैसला लिया गया कि गरीब लोगों के पास खाना पहुंचाया जाए।कुछ एनजीओ की भी मदद ली जाएगी और उनको मूवमेंट करने के लिए अलाउड किया जाएगा, ताकि वह गरीबों तक खाना पहुंचा सके।

फरीदाबाद शहर में स्लम एरिया एवं रिमोट एरिया में खाना पहुंचाया जाएगा, ताकि लोगों को परेशानी न हो।

शिकायत आ रही है कि कुछ दुकानदार बहुत ऊंचे दामों पर सामान बेच रहे हैं और जमाखोरी कर रहे हैं।

पुलिस आयुक्त ने बताया कि सिविल कपड़ों में पुलिस कर्मचारी दुकानों पर भेजे जाएंगे। अगर इस तरह की कोई जालसाजी पकड़ी गई, तो ऐसे लोगों के साथ पुलिस बहुत सख्ती से निपटेगी और मुकदमे दर्ज करेगी।

उन्होंने बताया कि अगर इस तरह की कोई भी शिकायत मिले, तो वह जिला उपायुक्त द्वारा जारी किए गए नंबर 129 – 2221000 पर भी शिकायत कर सकते हैं।

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि ऐसी बातें भी सामने आ रही है कि कुछ ठेकेदार काम न होने की वजह से मजदूरों को भगा रहे हैं।

आज की स्थिति देखते हुए ऐसे मजदूर लोग जिनकी रोजी-रोटी रोज की मेहनत पर निर्भर करती है, तो वह कहां जाएंगे।

ठेकेदार उन लोगों को न रहने के लिए जगह दे रहे हैं और न ही खाना खाने के लिए पैसे दे रहे हैं।

ऐसे ठेकेदारों के खिलाफ शिकायत मिलने पर पुलिस उनके खिलाफ उचित कार्यवाही कर जेल भेजेगी।

उन्होंने कहा कि मजदूरों के साथ ऐसा न करें। अगर काम नहीं है, तो भी उन लोगों को पैसे दे, ताकि वह समय पर खाना खा सकें।

आज जिस महामारी की स्थिति से हम गुजर रहे हैं। ऐसे समय में हमें एक दूसरे की मदद करनी चाहिए। ताकि हम सभी मिलकर इस कठिन समय से निकल सकें।

पुलिस आयुक्त ने ऊंचे दामों पर सामान बेचने वाले दुकानदारों से अपील की है कि यह वक्त पैसा कमाने का नहीं, बल्कि सेवा करने का है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

× How can I help you?