राजनैतिक दबाव के चलते कांग्रेसी नेताओं पर किया गया मुकदमा दर्ज : सुमित गौड़

फरीदाबाद। हरियाणा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा व प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल जी के निकिता के परिजनों को सांत्वना देने के दौरान भाजपा नेता व पार्षद द्वारा अपने समर्थकों द्वारा उनके काफिले पर किए गए हमले, जातिसूचक शब्दों से गालियां, जान से मारने की धमकी देने व कांग्रेसियों पर झूठा मुकदमा दर्ज करवाए जाने को लेकर अब जिले के कांग्रेसी भाजपा सरकार के खिलाफ लामबंद हो गए है। इसी कड़ी में हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश प्रवक्ता सुमित गौड़ ने कहा कि कांग्रेसियों पर जो झूठा मुकदमा दर्ज किया है, वह पूरी तरह से राजनीति से प्रेरित है और यह सब भाजपा मंत्री व विधायक की शह पर दर्ज किया गया है परंतु कांग्रेस कार्यकर्ता इस प्रकार के झूठे मुकदमें से कतई डरने वाले नहीं है और सच्चाई जनता के समक्ष उजागर करने का काम करेंगे। उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले को लेकर वह जल्द ही पुलिस कमिश्रर ओपी सिंह व पुलिस महानिदेशक से मिलेंगे और जरूरत पड़ी तो हाईकोर्ट व सुप्रीमकोर्ट तक लड़ाई लड़ेंगे। श्री गौड़ सोमवार को अपने सेक्टर-10 स्थित कांग्रेस भवन में पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उनके साथ मुख्य रूप से पूर्व उपमहापौर राजेंद्र भामला, प्रदेश प्रवक्ता योगेश ढींगड़ा, युवा कांग्रेसी नेता रिंकू चंदीला, प्रवक्ता जितेंद्र चंदेलिया, पार्षद अशोक रावल, कांग्रेसी नेता बाबूलाल रवि, कॉर्डिनेटर जिला कांग्रेस एवं युवा समाजसेवी गौरव ढींगड़ा, संजय सोलंकी, शशि शर्मा, मालती प्रधान आदि मौजूद थे। पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए प्रदेश प्रवक्ता सुमित गौड़ ने कहा कि पुलिस प्रशासन, जीएसटी व आयकर विभाग भाजपा सरकार की कठपुतली बनी हुई है, जिसके चलते वह कांग्रेसियों पर झूठे आरोप लगाकर उन्हें परेशान करने का काम कर रहे है। विगत दिनों जब कुमारी सैलजा व प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल निकिता के परिजनों से मिलने उसके घर गए थे तो वहां से वापिस लौटते समय भाजपा पार्षद जयवीर खटाना ने अपने समर्थकों के साथ उनके काफिले पर हमला किया परंतु कांगे्रसियों की बूझबूझ से कुमारी सैलजा व विवेक बंसल को वहां से निकाला गया। जब कांग्रेसियों ने इस मामले में भाजपा पार्षद के खिलाफ थाना मुजेसर में मुकदमा दर्ज करवाया तो पुलिस ने राजनैतिक दबाव में पार्षद के खिलाफ कार्यवाही करने के बजाए उल्टा कांग्रेसियों के खिलाफ ही मुकदमा दर्ज कर लिया, जबकि सच्चाई तो यह है कि भाजपा पार्षद ने जिस समय कांग्रेसियों पर हमला करने का आरोप लगा रहे है, उस समय वह सोहना टोल नियर केएमपी पर कुमारी सैलजा के काफिले के साथ थे और उनकी मोबाइल लोकेशन इसका जीता जागता प्रमाण है। प्रदेश प्रवक्ता सुमित गौड़ ने कहा कि निर्दलीय पार्षद जयवीर खटाना ने भाजपा को समर्थन दे रखा है और उसी आड़ में वह शराब तस्करों व पानी माफियाओं को अपना संरक्षण देता है और उनसे वसूली करता है। इतना ही नहीं जयवीर खटाना के खिलाफ पुलिस में 3 मुकदमें भी दर्ज है, जिसमें एक मामला तो हत्या का भी है। उन्होंने कहा कि यह पार्षद आपराधिक प्रवृत्ति है, जो भाजपा मंत्री व विधायकों के संरक्षण में अवैध कार्याे को अंजाम देता है। अब कांग्रेसी कार्यकर्ता उक्त पार्षद के काले कारनामों की पोल जनता के समक्ष खोलेंगे और इस मुद्दे को लेकर हर स्तर पर लड़ाई लडऩे से पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने पुलिस प्रशासन को 7 दिन का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि वह कांग्रेसियों पर दर्ज झूठे मुकदमें को रद्द करें और भाजपा पार्षद ने कुमारी सैलजा से जो बदसलूकी की है और जो मुकदमा दर्ज है, उसमें उन्हें राउंडअप करके जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए, अन्यथा कांग्रेस कार्यकर्ता सडक़ों पर उतरकर धरने-प्रदर्शन करने से भी गुरेज नहीं करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

× How can I help you?